महात्मा गांधी

ांधीहात्‍मगांधकाीवऔरर्शन

देहातीातावरणेंादा,ामूहिकीवबितातीुईत्याग्रहियोंबस्‍तीसानेगांधजीस्वप्‍जोहांसबर्गपाएकेतेंाकारुआ, जिसकटॉल्सटायनादियायागांधजीग़रीबीअपनाकरपनरहन-सहमेऔरपरिवर्तनिया।अपनी्रवृत्तियोऔऱर्चनियमितिनचर्यलिखनलगे।़ुरासेेकनिवासियोकेनुशासनअलावउनकीर्थिक,िक्षविषयक,ैतिकआध्‍यात्मिसमस्याएंकरनेलियेॉल्‍सटायश्रमेंनेप्रयोगियजातेे।श्रमवासीरस्‍परेवा,िनम्रतऔरेहनतपासीखते।िर्बल,बलनेपरिश्रसबकेियसंजीवनसमानाबितुआटॉल्सटायश्रमेंांधीकी्रद्धाहिम्मतरमीमतकहुंचहुथीआश्रआख़िरींगलियेध्यात्मिशुद्धितपस्याकेंद्रगया।ोपालृष्‍गोखलगांधजीअनुरोधअक्‍तूबर, 1912ेंक्षिअफ्रीक़ायेउनका़बरदस्स्वागतुआगांधजीउनकेहायकमंत्रीहैसियतकाकियागोखलजीिंदुस्तानियोकीालकीांकरनेउससुधारनमेगांधजीमदकरनेलियेयेे।न्होंनहमवतनोसेहातुमकअगफिसेत्याग्रहरनपड़े, तोगतसभ्‍लोतुम्हारीफलताचाहेंगे,रंतुरिणातो्‍याकेियमरिटनेतुम्हारीैयारपरनिर्भरोगा।ांधीमें,ोखलेकोाधारमनुष्‍मेवीरतकीावनाैदकरनेआध्‍यात्मिशक्‍तििखायदी
 

Clip: 15/19
Duration : 2 mins 44 sec

संकेतशब्द: उद्ग‍ार,जीवनवृत्त,तिथि, अवसर/घटनाएं स्‍थल,राजनैतिक मुद्‍दे,व्‍यक्‍ति, स्‍थान एवं वस्‍तुएं ,सामाजिक म....
खोज विडियो ऑडियो अग्रिम खोज

श्रेणी
ऑडियो/विडियो की सूचीकरण के लिए श्रेणी पर क्लिक करें
जीवनवृत्त (30 | 4 )
तिथि, अवसर/घटनाएं,स्‍थल (43 | 117 )
व्‍यक्‍ति, स्‍थान एवं वस्‍तुएं (82 | 76 )
राजनैतिक मुद्‍दे (40 | 78 )
आर्थिक मुद्‍दे (2 | 6 )
सामाजिक मुद्‍दे (83 | 86 )
विकासपरक मुद्‍दे (3 | 0 )
अन्‍तर्राष्‍ट्रीय मुद्‍दे (6 | 2 )
उद्ग‍ार (12 | 23 )

महात्मा गांधी

प्‍यार से बापू कहे जाने वाले राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी ने लंदन में एक बैरिस्‍टर के तौर पर अपने जीवन की शुरुआत की। दक्षिण अफ्रीका में हुए रंगभेद के शर्मनाक अनुभवों के बाद वे अंग्रेज़ों के ख़िलाफ़ ब्रिटिश उपनिवेश विरोधी आंदोलन में उतर पड़े और उन्‍होंने सत्‍याग्रह नाम के अहिंसात्‍मक अस्‍त्र से, जो लड़ाई छेड़ी उसके नतीजे चकित कर देने वाले थे। गांधी जी ने करोड़ों हिंदुस्‍तानियों को प्रेरित करके स्‍वाधीनता संग्राम के लिये एकजुट किया। उन्‍होंने भारतीय राष्‍ट्रीय कांग्रेस को मध्‍यवर्ग की एक सुधारवादी पार्टी से बदलकर एक मज़बूत जन आंदोलनों की पार्टी बनाया। गांधी जी का पक्‍का विश्‍वास था ‌कि आर्थिक आत्‍मनिर्भरता के बिना राजनीतिक स्‍वतंत्रता व्‍यर्थ है। उन्‍होंने द्ररिद्रनायारण यानी ग़रीबों में भी सबसे ग़रीब को अपने सरोकारों का केंद्र बनाया और भारत को छुआछूत के अभिशाप से मुक्‍ति दिलाने के प्रयास किये। विभाजन के बाद एक धर्मांध के हाथों वे शहीद हुए।


लोकप्रिय खोज
ऑडियो/विडियो देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें
कलकत्ता कॉर्पोरेशन की ओर से सम्‍मान समारोह में भाषण
प्रार्थना सभा के बाद भाषण (15/47)
महात्‍मा गांधी का जीवन और दर्शन

जीवन-वृत्त
1869, October 2
Birth of Mohandas Karamchand Gandhi in Kathiawar, Porbandar
1883, October
Married to Kasturbai
1887, October
Passed Matriculation exam from Ahmedabad Centre