महात्मा गांधी

हात्‍मगांधकाीवऔरर्शन

मुस्लिलीनेलाकियारज़ीुकूमकीुख़ालिफ़करनेलिये16गस्‍त, 1946 रास्अक़्दाकेौरबनायजाऔरलकत्तेख़ूंरेजीसकनतीजथीजुनूसेागइन्‍साक़त्ले-आपरतरयेये़हबंगाकेोआखालीत्रिपुरा़िलोमेआगतरफैगया।ुसीबकेारलोअपनेछोड़करपड़ेमज़हबीफ़रतअसबिहामुल्क़दूसरहिस्सोमेभीुआगांधजीआश्रमवासियोंउनकार्त्तव्‍समझायाइसकोुझानकेिये,मेउसमेकूदकअपनालिदादेनााहिएा।सकबाविदालेकर, वोिल्‍लीलिरवानहोये
कईिनोंबहकेाद 2ितम्बर, 1946आरज़हुकूमत़ायमदीयी, जिसकबागडोरवाहरलानेहरनेंभाली।ंत्रिमंडऔरार्यकारिणीकईदस्‍गांधजीमार्गदर्शनलियेंगबस्‍तीेंमाुएनयसरकाकोधादेतेुएांधीनेहायेिनुक़म्‍मलज़ादकीरफएकक़दमै।ुझउम्‍मीहै, नमपरकरटाियजाएगा।ंत्रिमंडएकतालियेोशिशरेगाहिंदुस्‍ताकोच्चाकीाहआगबढ़ायेगाजनताइसामेंनकपूरीददरेगी।”ेशदुखदटनाओपरांधीनेपनव्यथव्यक्‍कीऐसलगताकिेशइन्‍सानियतिटतीरहहैख़ूनबदले़ूकाारजंगलहैबंगाऔरिहारेंिंदुस्ताकीज़ादआज़तरेेंै।ैंगरिंसारोसका,मेरेीवकाोईर्नहीं।”

Clip: 13/20
Duration : 2 mins 47 sec

संकेतशब्द: तिथि, अवसर/घटनाएं स्‍थल,राजनैतिक मुद्‍दे
खोज विडियो ऑडियो अग्रिम खोज

श्रेणी
ऑडियो/विडियो की सूचीकरण के लिए श्रेणी पर क्लिक करें
जीवनवृत्त (30 | 4 )
तिथि, अवसर/घटनाएं,स्‍थल (43 | 117 )
व्‍यक्‍ति, स्‍थान एवं वस्‍तुएं (82 | 76 )
राजनैतिक मुद्‍दे (40 | 78 )
आर्थिक मुद्‍दे (2 | 6 )
सामाजिक मुद्‍दे (83 | 86 )
विकासपरक मुद्‍दे (3 | 0 )
अन्‍तर्राष्‍ट्रीय मुद्‍दे (6 | 2 )
उद्ग‍ार (12 | 23 )

महात्मा गांधी

प्‍यार से बापू कहे जाने वाले राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी ने लंदन में एक बैरिस्‍टर के तौर पर अपने जीवन की शुरुआत की। दक्षिण अफ्रीका में हुए रंगभेद के शर्मनाक अनुभवों के बाद वे अंग्रेज़ों के ख़िलाफ़ ब्रिटिश उपनिवेश विरोधी आंदोलन में उतर पड़े और उन्‍होंने सत्‍याग्रह नाम के अहिंसात्‍मक अस्‍त्र से, जो लड़ाई छेड़ी उसके नतीजे चकित कर देने वाले थे। गांधी जी ने करोड़ों हिंदुस्‍तानियों को प्रेरित करके स्‍वाधीनता संग्राम के लिये एकजुट किया। उन्‍होंने भारतीय राष्‍ट्रीय कांग्रेस को मध्‍यवर्ग की एक सुधारवादी पार्टी से बदलकर एक मज़बूत जन आंदोलनों की पार्टी बनाया। गांधी जी का पक्‍का विश्‍वास था ‌कि आर्थिक आत्‍मनिर्भरता के बिना राजनीतिक स्‍वतंत्रता व्‍यर्थ है। उन्‍होंने द्ररिद्रनायारण यानी ग़रीबों में भी सबसे ग़रीब को अपने सरोकारों का केंद्र बनाया और भारत को छुआछूत के अभिशाप से मुक्‍ति दिलाने के प्रयास किये। विभाजन के बाद एक धर्मांध के हाथों वे शहीद हुए।


लोकप्रिय खोज
ऑडियो/विडियो देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें
कलकत्ता कॉर्पोरेशन की ओर से सम्‍मान समारोह में भाषण
प्रार्थना सभा के बाद भाषण (15/47)
महात्‍मा गांधी का जीवन और दर्शन

जीवन-वृत्त
1869, October 2
Birth of Mohandas Karamchand Gandhi in Kathiawar, Porbandar
1883, October
Married to Kasturbai
1887, October
Passed Matriculation exam from Ahmedabad Centre