पंडित जवाहरलाल नेहरू

ेहरु- ‘रेमेम्बेरिंनेहरु’ एपिसोड: 4

कर्ननरंजसिंहिल
मैकिसीामलिये Central America केुल्कोंेंया, Vote लेनेलिये, तोमतौरतोनकशक्‍ल-शबाहरंहमारहोताै,नकपतभीहीलगकिैंहासेयाूंेकिनूंकिेरपगड़थी, दाढ़थीउन्‍होंनदो-तीनगहुझपूछा Central America में।तो्‍वाटेमालाें, एकलसेल्‍वाडोमेकिआपहासेतेैं? जबैंनेहा India,कहनेगे, ओह! Land of Gandhi, of Nehru, of Vivekanand,मुझेोटलगकिदूसरतरफ़ुनियकेतोंडितेहरूो,नकसाथियोकोादरतहैऔरअपनी Culture को, अपनीीजकोूलहेैं

कांतडोगर
मेरी Generation नेपंडिजीबहुतुछ्रहणियहै, बहुतेखा,ोचा-समझा, जितरह-जितरह,लोजातेे,पनवक़्में,हिंदुस्‍ताकीअजीबतस्‍वीर,न्होंनपेकरथीारदुनियाेंहिंदुस्‍ताकोकहते Nehru’s country. It was not India, Nehru’s country.

प्रेभाटिया
औरड़आनंदताा,नकसासफ़ररनमेक्योंकि उनकीशाथी, वोपे Reflect होतीकिभारतआयहैं,जवाहरलालेहरूैंयेनकसाआयहैं।हमकुचुटकी,ुस्‍कीलेतेे। One had to behave oneself ज्यादती-वात्तीहीकरकतथे

 Zehra Ali Yavar Jung
Wherever he came, whenever, the crowds used to just go crazy about him. You know even our neighbours, all the buildings in the neighbourhood, everybody was looking out of the window, in Cairo when he came, we were having a big party for Nasser and I was fixing a reflector. I was on the roof and he got down and said, “What is happening? So my husband said you know we have a party this evening, so he wanted to know where I was. He said, she is on the roof, I believe so he said then after that he said that you are on the roof, I will be on the ground and what do you want to do? I said I wanted to put that reflector on this particular tree. So you know he sat down and he was putting that reflector. And the crowds from the neighbouring buildings, they were all looking out of the window like that and Nehru-Nehru.

Clip: 8/10
Duration : 2 mins 41 sec

संकेतशब्द: अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्‍दे,जीवनवृत्त,राजनैतिक मुद्‍दे,व्‍यक्‍ति, स्‍थान एवं वस्‍तुएं ,सामाजिक मुद्‍दे
खोज विडियो ऑडियो अग्रिम खोज

श्रेणी
ऑडियो/विडियो की सूचीकरण के लिए श्रेणी पर क्लिक करें
जीवनवृत्त (148 | 0 )
तिथि, अवसर/घटनाएं,स्‍थल (26 | 15 )
व्‍यक्‍ति, स्‍थान एवं वस्‍तुएं (179 | 10 )
राजनैतिक मुद्‍दे (99 | 1 )
आर्थिक मुद्‍दे (8 | 2 )
सामाजिक मुद्‍दे (94 | 6 )
विकासपरक मुद्‍दे (28 | 15 )
अन्‍तर्राष्‍ट्रीय मुद्‍दे (59 | 0 )
उद्ग‍ार (42 | 0 )

पंडित जवाहरलाल नेहरू

भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। वे एक लेखक, युगदृष्‍टा और कर्मयोगी थे। इंग्‍लैंड से लौटकर वे भारतीय राष्‍ट्रीय कांग्रेस में शामिल हुए थे। उनके करिश्‍माई व्‍यक्‍तित्‍व और अभूतपूर्व सक्रियता ने उन्‍हें स्‍वाधीनता आंदोलन की पहली क़तार में ला खड़ा किया था। महात्‍मा गांधी उनके रहनुमा थे, उन्‍होंने ही पंडित नेहरू को अपने राजनीतिक उत्तराधिकारी के रूप में प्रस्‍तुत किया था। नेहरू समाजवादी विचारों से गहरे प्रभावित थे और लोकतांत्रिक आदर्शों के प्रति प्रतिबद्घ थे। नेहरू में भारत की बहुसांस्‍कृतिक और बहुधार्मिक संस्‍कृति के प्रति गर्व का भाव था और उन्‍होंने सदियों की जड़ता से निकलने के लिये लोगों में वैज्ञानिक चेतना भरने की कोशिशें कीं। उन्‍होंने औपनिवेशिक ग़ुलामी से बदहाल भारत को एक शानदार आधुनिक राष्‍ट्र बनाने का सपना देखा। गुटनिरपेक्ष आंदोलन के संस्‍थापकों में उनका नाम बड़ी इज्‍़ज़त से लिया जाता है और वे एफ्रो-एशियाई भाईचारे के सूत्रधार भी थे।


लोकप्रिय खोज
ऑडियो/विडियो देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें
नेहरू – पं. जवाहरलाल नेहरू भारत रत्‍न
नेहरु - रेमेम्बेरिंग नेहरु एप-१
नेहरु- रेमेम्बेरिंग नेहरु (एपिसोड-II)

जीवन-वृत्त
1889, November 14
Birth of Pandit Jawaharlal Nehru
1905 to 1907
Studied at Harrow School , Middlesex
1910
Left Cambridge after taking the Natural Sciences Tripos. Joined the Inner Temple , London , and qualified for the Bar