पंडित जवाहरलाल नेहरू

NEHRU – And so to sleep

Uganda’s minister Mr. Kalmule Sataleh:
“Our Parliament and the Prime Minister in a short tribute told the nation how the loss of Mr. Nehru was not only a loss to you and the people of India but also a personal loss to us in Uganda.

Romania’s Deputy Prime Minister, Mr. George Opastav, convey’s his country’s grief at the passing away of an eminent statesmen:

South Korea’s Mr. Tong Von Lee:
…in this time of crisis, I have no doubt that you will carry on the task of national reconstruction which your beloved Prime Minister has left unfinished.

First Deputy Premier, Mr. Alexis Kosygin of the Soviet Union recalls Mr. Khrushchev’s tributes to Mr. Nehru and his great work:
Tunisia’s Foreign Minister, Mr. Mongi Sing:
…brother is a difficult task of shaping and building the nation. This is why we feel today the pain and the grief of losing one of our leaders, one of the greatest men of our time.
UAR’S Vice-President, Mr. Hussain Shafi:…to convey to you on behalf of President Gamel Abdel Nasser and the people of the United Arab Republic and on my behalf our deepest concern and condolences over the very sad and most sorrowful event.”Secretary of State, Dean Rusk of the United States:
…and never like to draw back from crisis and attempt to find a peaceful solution. And this attitude, which was once regarded merely as a maxim of diplomacy has now become the most urgent practical necessity for the survival of man.
Yugoslavia’s Prime Minister, Mr. Peter Stambolic conveys President Tito’s condolences and his country’s deep pain:

Clip: 6/10
Duration : 2 mins 11 sec

संकेतशब्द: अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्‍दे,तिथि, अवसर/घटनाएं स्‍थल,राजनैतिक मुद्‍दे,व्‍यक्‍ति, स्‍थान एवं वस्‍तुएं
खोज विडियो ऑडियो अग्रिम खोज

श्रेणी
ऑडियो/विडियो की सूचीकरण के लिए श्रेणी पर क्लिक करें
जीवनवृत्त (148 | 0 )
तिथि, अवसर/घटनाएं,स्‍थल (26 | 15 )
व्‍यक्‍ति, स्‍थान एवं वस्‍तुएं (179 | 10 )
राजनैतिक मुद्‍दे (99 | 1 )
आर्थिक मुद्‍दे (8 | 2 )
सामाजिक मुद्‍दे (94 | 6 )
विकासपरक मुद्‍दे (28 | 15 )
अन्‍तर्राष्‍ट्रीय मुद्‍दे (59 | 0 )
उद्ग‍ार (42 | 0 )

पंडित जवाहरलाल नेहरू

भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। वे एक लेखक, युगदृष्‍टा और कर्मयोगी थे। इंग्‍लैंड से लौटकर वे भारतीय राष्‍ट्रीय कांग्रेस में शामिल हुए थे। उनके करिश्‍माई व्‍यक्‍तित्‍व और अभूतपूर्व सक्रियता ने उन्‍हें स्‍वाधीनता आंदोलन की पहली क़तार में ला खड़ा किया था। महात्‍मा गांधी उनके रहनुमा थे, उन्‍होंने ही पंडित नेहरू को अपने राजनीतिक उत्तराधिकारी के रूप में प्रस्‍तुत किया था। नेहरू समाजवादी विचारों से गहरे प्रभावित थे और लोकतांत्रिक आदर्शों के प्रति प्रतिबद्घ थे। नेहरू में भारत की बहुसांस्‍कृतिक और बहुधार्मिक संस्‍कृति के प्रति गर्व का भाव था और उन्‍होंने सदियों की जड़ता से निकलने के लिये लोगों में वैज्ञानिक चेतना भरने की कोशिशें कीं। उन्‍होंने औपनिवेशिक ग़ुलामी से बदहाल भारत को एक शानदार आधुनिक राष्‍ट्र बनाने का सपना देखा। गुटनिरपेक्ष आंदोलन के संस्‍थापकों में उनका नाम बड़ी इज्‍़ज़त से लिया जाता है और वे एफ्रो-एशियाई भाईचारे के सूत्रधार भी थे।


लोकप्रिय खोज
ऑडियो/विडियो देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें
नेहरू – पं. जवाहरलाल नेहरू भारत रत्‍न
नेहरु - रेमेम्बेरिंग नेहरु एप-१
नेहरु- रेमेम्बेरिंग नेहरु (एपिसोड-II)

जीवन-वृत्त
1889, November 14
Birth of Pandit Jawaharlal Nehru
1905 to 1907
Studied at Harrow School , Middlesex
1910
Left Cambridge after taking the Natural Sciences Tripos. Joined the Inner Temple , London , and qualified for the Bar