श्रीमती इंदिरा गांधी

ंदिर‌किसानैल- टी. वी. रिपोर्

इंदिराांधी
जिनककम़मीनै,सरकारोनेनकमालगुज़ारीछूदीऔरपूरेसकलियेैयारैंि जहांहीहुहैहाभीजालेकिएक्रश्उसमेयेकिुझसेहायाआजबानहींयेबहुतर्पहलेबाहैि कोई-कोराज्ऐसहैजहांमालगुज़ारीेतहैउससेसाबिहोताकिज़मीउसकीै।उस़मानबहुत़रीबिसानेरपाआयथेि यहोईमारीददहीहुहैि इससेहमेंायहानिसकतीै।इसीजकोमेदेखनहोगाि हमपनतरफ़मदकरेंयेकिभीाग़जग़रीकिसाकेासैं, वोससहटाएऔरससउसकीकठिनाईलेकियह़दउठानमेज़राझिझकहीहै़ालीचाहतहैकिसकजोिसानहिहैं,बचरहेंअबपकमालूहैि किप्रकारडीज़औरेलदाइधबढ़तरहहैं।पकयेमालूहैि येमारे़ाबूेंहीहै्‍योंकि येीज़ेबाहरआतहैं।पनदेकात्पादनहमढ़रहहैलेकिवोाफ़ी, हमारबढ़तहुमांगोंलियेाफ़ीहीहै, लेकिहमेंनयबाअबपकतोालूमलेकितबमैदोहररहहूकिबायोगैके्‍लांटैंानजोोबसेलतहैं,गरनकहमढ़ावदेऔरख़ालगोबरनहीं, यहुझजोमारेैज्ञानिकैंटेक्नीशियंहैं,लोबतातहैकिजोसेायोगैसप्लांटैंसमें़ालीउसमेजोलबनिकलतावोच्छाादोतहैयेप्लांटइंजनपम्‍भीसकतेैंानहमिल्‍कुहमें़रूरहीहीहो, ऐसहमसकतेैंुछालादि शायदमेज़रूरतनहींड़डीजलत्यादिज़्यादा।ज़माना़्यादाहीरहनेालहै्‍योंकि ऐसज़मानेपहलेहमारचुकेैंवोबीमेहमारयेसबामुकयेहीतोायऐसनहींोता।ेकिनुछभीख़ालअपनेेशेंहुयहातहीहैइसका्रभाबाहरजोंतर्राष्ट्रीस्थितिउसकाज़बरदस्‍प्रभावुआऔरप्रभावऔरढ़तााएगातबअगहमहाकेोगज़बूतीउस़मानमेखड़ेहततोोईारनहींकििस्रकासेहाकाहमनेबुनियादीांचाा,कमज़ोरियऔर्‍योकियाउन्‍होंनछिपाकरहीकिया, खुलेकहकिमकइसीति मेकांग्रेसनीतिेंिश्‍वानहींै।ुलकहकि 30 साजोांग्रेनेामियहै, जिसककारणस्वावलम्बीुएनामें,िसकेारमज़बूतआईेशें, जिसककारणुद्धेंजीसके,लोगोनेहाग़लतीति थीआजबजायसककिआत्‍मबआपकाढ़ाएं।

Clip: 10/11
Duration : 3 mins 6 sec

संकेतशब्द: अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्‍दे,आर्थिक मुद्‍दे,उद्ग‍ार,राजनैतिक मुद्‍दे,विकासपरक मुद्‍दे,सामाजिक मुद्‍दे
खोज विडियो ऑडियो अग्रिम खोज

श्रेणी
ऑडियो/विडियो की सूचीकरण के लिए श्रेणी पर क्लिक करें
जीवनवृत्त (18 | 0 )
तिथि, अवसर/घटनाएं,स्‍थल (26 | 0 )
व्‍यक्‍ति, स्‍थान एवं वस्‍तुएं (161 | 0 )
राजनैतिक मुद्‍दे (159 | 0 )
आर्थिक मुद्‍दे (72 | 0 )
सामाजिक मुद्‍दे (170 | 0 )
विकासपरक मुद्‍दे (111 | 0 )
अन्‍तर्राष्‍ट्रीय मुद्‍दे (44 | 0 )
उद्ग‍ार (180 | 0 )

श्रीमती इंदिरा गांधी

पंडित जवाहरलाल नेहरू की इकलौती संतान इंदिरा गांधी स्‍वाधीनता आंदोलन के हलचल भरे दिनों में पली-बढ़ीं। राजनीतिक उथल-पुथल के बीच उनकी पढ़ाई कई बार बाधित हुई। इंदिरा गांधी पर अपने पिता का गहरा प्रभाव था और पिता उन पर बहुत भरोसा करते थे। कांग्रेस पार्टी में एक कार्यकर्ता की भूमिका से आगे बढ़ते हुए वे अनेक ज़िम्‍मेदारियों में रहीं और आख़िरकार पार्टी की प्रमुख नेता बनीं। बैंकों का राष्‍ट्रीयकरण और तत्‍कालीन रजवाड़ों के विशेषाधिकारों को समाप्‍त करते हुए वे एक लोकप्रिय नेता के बतौर उभरीं। हरित क्रांति और शांतिपूर्ण परमाणु परीक्षण के साथ-साथ अंतरिक्ष में एक भारतीय उपग्रह की सफल स्‍थापना के बाद उनकी लोकप्रियता बढ़ती गयी। बंगलादेश की स्‍वतंत्रता के समय वे बड़ी कठोरता से पेश आयीं। उनके कठोर आलोचक तक यह मानते हैं कि वे भारत को बहुत प्‍यार करती थीं और राष्‍ट्रीय हितों के साथ समझौता नहीं कर सकती थीं। राष्‍ट्र की एकता और अखंडता की रक्षा करते हुए वे शहीद हुईं।


लोकप्रिय खोज
ऑडियो/विडियो देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें
इंदिरा - इंदिरा प्रियदर्शिनी
इं‌दिरा - श्रीमती इंदिरा गांधी का जन-सम्‍बोधन
इंदिरा – श्रीमती गांधी की सुलह कुल यात्रा

जीवन-वृत्त
1917, November 19
Indira Priyadarshini was born at Anand Bhawan (Abode of Happiness), in Allahabad.
1920 to 1921
Mahatma Gandhi came to Anand Bhawan, Allahabad for the first time when Indira was about three years old.
1922, January
Stayed at Mahatma Gandhi’s Sabarmati Ashram at Ahmedabad.